Take a fresh look at your lifestyle.

राजस्थान सहित 9 राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट, केरल के 8 और कर्नाटक के 15 जिले बाढ़ की चपेट में…

मध्य और दक्षिण-पश्चिम अरब सागर क्षेत्रों में हवाएं 50 किमी की रफ्तार से चलने का अनुमान

सत्य संग्राम। मौसम विभाग ने मध्यप्रदेश, राजस्थान, गुजरात, केरल, कर्नाटक और महाराष्ट्र में बहुत भारी बारिश और गोवा, तमिलनाडु, जम्मू-कश्मीर में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। साथ ही पूर्वोत्तर, मध्य और दक्षिण-पश्चिम अरब सागर क्षेत्रों में हवाएं 50 किमी की रफ्तार से चलने का अनुमान जताया है।

आपको बता दें कि मौसम विभाग ने 17 पूर्वी एवं दक्षिणी जिलों में भारी वर्षा की चेतावनी दी है। बांसवाड़ा, भीलवाडा, बूंदी, चित्तौड़गढ़ और प्रतापगढ़ में अगले 24 घंटों के दौरान कुछ स्थानों पर भारी और कुछ स्थानों पर अत्यधिक वर्षा होने का अनुमान है। मौसम विभाग ने शुक्रवार को कर्नाटक और महाराष्ट्र समेत 9 राज्यों में भारी वर्षा का अलर्ट जारी किया है।

बता दें कि केरल के 8 जिलों में बाढ़ 22 हजार से ज्यादा लोग राहत शिविरों में पहुंचाए गए। वायनाड जिले में भूस्खलन में 2 की जान गई, एनडीआरएफ ने 54 लोगों को रेस्क्यू किया।कर्नाटक में कृष्णा समेत कई नदियां उफान पर, 15 जिलों में बाढ़ के हालात बने हुए है।

बता दें कि कर्नाटक के मेंगलुरु में भी छह उड़ानों का समय बदला गया। केरल में 22 हजार से ज्यादा लोग राहत शिविरों में पहुंचाए गए। सरकार ने शुक्रवार को स्कूलों की छुट्टी घोषित कर दी। वायनाड में भूस्खलन होने से दो लोगों की जान चली गई।

आपको बता दें कि बेंगलुरु, केरल, महाराष्ट्र मध्य प्रदेश समेत कई हिस्से बारिश और बाढ़ से बेहाल हैं। भारी बारिश के चलते केरल में कोच्चि एयरपोर्ट को रविवार दोपहर 3 बजे तक बंद करना पड़ा है। बाढ़ग्रस्त जिलों में 22 हजार से ज्यादा लोगों को राहत शिविरों में पहुंचाया गया।

बता दें कि मध्यप्रदेश के बंगाल की खाड़ी में बने मजबूत सिस्टम से भोपाल, खंडवा, होशंगाबाद, धार समेत कई जिलों में गुरुवार शाम से भारी बारिश हो रही है। कोच्चि में 110 मिलीमीटर बारिश होने से प्राचीन शिव मंदिर भी डूब गया।

बता दें कि केरल के यहां के 8 जिलों में बाढ़ की स्थिति बनी हुई है। 48 घंटों तक बारिश से राहत मिलने के आसार नहीं है। कुन्नूर, कोच्चि, कोझिकोड़, इडुक्की, मल्लापुरम, तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, अलप्पुझा, कोट्टायम, एर्नाकुलम, त्रिशूर में बारी बारिश का अलर्ट है। दो दिन में 14 की जान गई।

आपको बता दें कि गुजरात के यहां के छोटा उदेयपुर के बाढ़ के चलते हालात गंभीर हैं। हेरन नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। उत्तराखंड के चमोली जिले के पदमा और फलदिया गांव में गुरुवार रात बादल फटने से करीब 12 घरों को नुकसान पहुंचा। एक महिला और बच्ची की मौत हो गई।

Leave A Reply

Your email address will not be published.