Take a fresh look at your lifestyle.

दलितों पर अत्याचार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा, एकजुट होकर करना संघर्ष होगा : प्रोफेसर जयलाल सिंह

झुंझुनू ! आज दिनांक 16 जून 2019 को अंबेडकर भवन झुंझुनू में प्रोफेसर जयलाल सिंह की अध्यक्षता में अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति अत्याचार विरोधी जिला संघर्ष समिति की मीटिंग संपन्न हुईI  मीटिंग में समाज के प्रबुद्धजन, सामाजिक कार्यकर्ताओं और संघर्ष समिति के सदस्यों ने भाग लिया. मीटिंग में दलित समाज पर हो रहे अत्याचार पर चिंता व्यक्त करते हुए सभी वक्ताओं ने सामाजिक एकता और संघर्ष समिति को मजबूत करने पर जोर दिया. वक्ताओं ने शासन-प्रशासन में फैले भ्रष्टाचार पर भी गहरी चिंता व्यक्त की और कहा कि भ्रष्टाचार की वजह से अपराध करने वाले बच जाते हैं और पीड़ितों को न्याय नहीं मिलता हैI
सरकारे बदलती रहती हैं लेकिन दलितों पर अत्याचार नहीं रुकते हैं. दलितों पर हो रहे अत्याचार के लिए सरकार जिम्मेदार है. दलितों के अधिकारों की रक्षा और सुरक्षा के लिए सरकार को ठोस कदम उठाने चाहिए. संघर्ष समिति के अध्यक्ष प्रोफेसर जयलाल सिंह ने कहा कि दलितों पर अत्याचार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. इसके लिए हमें एकजुट होकर संघर्ष करना होगा और अन्याय के विरुद्ध लड़ना होगा. उन्होंने संगठन को मजबूत बनाने का आह्वान किया और कार्यकारिणी का विस्तार करते हुए सभी की सहमति से पूरे जिले में ब्लाक अध्यक्ष व संयोजक नियुक्त करने का फैसला लिया.इसके अलावा संघर्ष समिति द्वारा आगामी समय में किए जाने वाले कार्यों पर भी चर्चा की गई I
मीटिंग में गिरधारी लाल कटारिया, महावीर सानेल, मनीराम देवरोड़,मालीराम वर्मा, धर्मपाल गांधी,रामनिवास भूरिया, रामानंद आर्य,वीरेंद्र मीणा, राजेंद्र कुमार नारनोलिया,शुभकरण सावां, राधेश्याम खारिया, सुभाष गोठवाल, रामकुमार सिंह मीणा, सुभाष सिंघल, रामकरण नरनोलिया, शीशपाल सिंह, भोपाल सिंह, निरंजन प्रसाद आला, बंशीधर नारोलिया, पवन नरनोलिया, विनोद कुमार आदि अन्य कार्यकर्ता मौजूद रहेI

Leave A Reply

Your email address will not be published.