Take a fresh look at your lifestyle.

दक्षिण-पश्चिम मॉनसून देश के अधिकांश हिस्‍सों में पहुंचा, राजस्‍थान में दस्‍तक देने की सम्भावना…

दक्षिण-पश्चिम मानसून देश के उत्‍तरी और मध्‍यवर्ती हिस्‍सों की तरफ बढ़ गया है।

सत्य संग्राम। दक्षिण पश्‍चिम मॉनसून अभी देश के लगभग सभी इलाकों में कवर कर चुके हैं। सिर्फ वेस्‍ट राजस्‍थान और पंजाब के कुछ हिस्सों को छोड़कर और इसका मतलब यही है कि नार्थ ईस्‍ट इंडिया का सभी इलाका दिल्‍ली को मिलाके मॉनसून आ चुका है।

आपको बता दें कि बारिश अधिकांश जगह पर रिकॉर्ड हुई है पास्‍ट 24 आवर्स में नार्थ ईस्‍ट इंडिया से जम्‍मू एंड कश्‍मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्‍तराखंड, वेस्‍ट उत्‍तर प्रदेश, हरियाण, चंडीगढ़ और डेल्‍ही और ऑल इंडिया की बात करें तो ऑल इंडिया में जून में जो 36 परसेन्‍ट जो डेफिसेन्‍ट हो गया था वो धीरे धीरे इंप्रूव हो रहा है।

मौसम विभाग के वरिष्‍ठ अधिकारी एम.महोपात्रा ने कहा कि अब पश्चिमी राजस्‍थान और पंजाब के कुछ हिस्‍सों को छोड़कर देश के अधिकतर भागों में मानसून ने दस्‍तक दे दी है। उन्‍होंने कहा कि पिछले 24 घंटों के दौरान देश के उत्‍तर-पश्चिमी इलाकों में वर्षा हुई है और अगले दो-तीन दिन तक इसके जारी रहने की संभावना है।

आपको बता दें कि समावेशी विकास सरकार का प्रमुख एजेंडा है और इसके लिए ग्रामीण क्षेत्रों, कृषि और समाज के आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों की ओर ध्‍यान दिया जाना जरूरी है।

नीति आयोग के सदस्‍य प्रोफेसर रमेश चंद ने कहा कि वर्ष 2019-20 का केंद्रीय बजट समावेशी विकास पर बल देता है। उन्‍होंने कहा कि किसानों को दी जाने वाली सब्सिडी के वितरण में सुधार की जरूरत है। स्‍टार्ट-अप पर बल देते हुए उन्‍होंने कहा कि कृषि में स्‍टार्ट-अप इस क्षेत्र में एक नवाचार का माध्‍यम है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.