Take a fresh look at your lifestyle.

जम्‍मू-कश्‍मीर में ईद-उल-अज़हा का त्‍यौहार शांतिपूर्वक मनाने के लिए प्रशासन सक्रिय..

ईद-उल-अज़हा के पर्व की सभी देशवासियों को शुभकामएँ।

सत्य संग्राम। जम्मू कश्मीर के हर जिले में राशन घर दोबारा खोल दिए गए हैं ता‍कि आम लोगों को राशन की आपूर्ति सुनिश्चित की जा सके। सरकार द्वारा जरूरी वस्‍तुओं के भंडारण हेतु उचित प्रबंध किए गए हैं। सरकार ने पहले ही सभी कर्मचारियों को वेतन दे दिया है और दिहाड़ी कामगारों और अस्‍थाई श्रमिकों को भी उनका पारिश्रमिक मिल गया है।

आपको बता दें कि कश्मीर घाटी में मोबाइल वाहनों के द्वारा लोगों को उनके घरों तक सब्‍जि‍यों एलपीजी पॉल्ट्री और अन्‍यों की आपूर्ति सुनिश्चित की जा रही है। तीन सौ विशेष टेलीफोन बूथ बनाए जा रहे हैं, ताकि लोग अपने परिजनों से बात कर सकें।

बता दें कि जम्‍मू-कश्‍मीर प्रशासन ने कल ईद से पहले कई उपायों की घोषणा की है, ताकि लोग ईद-उल-अज़हा का त्‍यौहार शांति से मना सकें। श्रीनगर में यातायात सुचारू रूप से चल रहा है। हवाई यातायात भी सामान्‍य है। बैंक और एटीएम सुचारू रूप से काम कर रहे हैं।

श्रीनगर के जिला मजिस्‍ट्रेट शाहिद चौधरी ने ईद-उल-अज़हा की पूर्व संध्‍या पर इमामों के साथ नमाज़ के प्रबंधों के बारे में बैठक की। उन्‍होंने ट्वीट कर कहा कि वे असुविधाओं को कम करने और हर प्रकार की सहूलियत मुहैया कराने का पूरा प्रयास कर रहे हैं, ताकि लोग हर्षोल्‍लास के साथ त्‍यौहार मना सकें।

बता दें कि श्रीनगर शहर में 6 मंडियां और बाजार कायम किए गए हैं। उसके अतिरिक्‍त इद-उल-अजहा के मद्देनजर कुर्बानी के लिए ढाई लाख के करीब भेड़-बकरियां भी बकरियां भी आम लोगों के लिए उपलब्‍ध रखी गई है।

नई दिल्ली में स्थिति रेजिटेंड कमीश्‍नर के द्वारा विभिन्न जगहों जैसे अलीगढ़ और नई दिल्‍ली में संपर्क अधिकारियों को सक्रिय रखा गया ताकि जम्मू-कश्मीर के विद्यार्थी अपने परिवारों के साथ बातचीत कर सकें और साथ ही साथ ईद का त्योहार भी मना सके।

सभी प्रकार के चिकित्‍सा संस्‍थानों में डॉक्‍टर और अर्द्धचिकित्‍सा कर्मी मौजूद है। इनमें पर्याप्‍त मात्रा में दवाएं भी उपलब्‍ध हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.