Take a fresh look at your lifestyle.

कांग्रेस का उम्मीद से खराब प्रदर्शन, जनता ने फिर से मोदी पर जताया भरोसा..

बीजेपी ने कांग्रेस को भारी मतों से हार देकर बहुमत प्राप्त किया है। गठबधन का भी जादू नहीं चला..

सत्य संग्राम। कांग्रेस को इतने खराब प्रदर्शन की उम्मीद नहीं थी। पार्टी ने स्वीकार किया है कि ‘चौकीदार चोर है’ के नारा फेल हुआ है। मतगणना के रुझानों के आधार पर चुनाव परिणामों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता, उनकी सरकार के पिछले पांच साल के कार्यों और चुनाव प्रचार अभियान का नतीजा माना जा रहा है। मतगणना के रुझानों के अनुसार, मोदी लहर के साथ-साथ पार्टी अध्यक्ष अमित शाह की चुनावी रणनीति ने भौगोलिक और जातीय, उम्र, लिंग जैसे समीकरणों को मात देते हुए उनका सफाया किया है।
चुनाव प्रचार राष्ट्रीय सुरक्षा और राष्ट्रवाद के इर्द-गिर्द रहा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लगातार कांग्रेस पार्टी की वंशानुगत विरासत पर निशाना साधा। विपक्ष ने भाजपा पर ध्रुवीकरण और बांटने वाली राजनीति के आरोप लगाते हुए हमला बोला।

दिल्ली के 24 अकबर रोड स्थित कांग्रेस मुख्यालय में बृहस्पतिवार सुबह ही बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता जमा हो गए थे, हालांकि रुझानों में पार्टी के पिछड़ने के साथ ही उनका उत्साह कम होता गया. वैसे, एग्जिट पोल में ही एनडीए की बड़ी जीत की संभावना जताने के बाद से कांग्रेस खेमे में उत्साह की कमी नजर आ रही थी. कांग्रेस मुख्यालय में मौजूद एक कार्यकर्ता ने कहा, ‘‘इसकी उम्मीद नहीं थी. हम चाहते हैं कि पार्टी एकजुट होकर मेहनत करें ताकि कांग्रेस एक बार फिर मजबूत हो.’’

कांग्रेस को इतने खराब प्रदर्शन की उम्मीद नहीं थी। कांग्रेस पार्टी ने माना है कि का ‘चौकीदार चोर है’ का नारा बुरी तरह से फेल हो गया है। रुझान आने के दो घंटे बाद ही प्रियंका गांधी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के आवास पर पहुंची उसके थोड़ी देर बाद यूपीए की अध्यक्ष सोनिया गांधी भी पहुंची।

आपको बता दें कि इस समय जो रुझान आ रहे हैं उसके मुताबिक बीजेपी अकेले दम पर 300 सीटों के आसपास पहुंच रही है वहीं कांग्रेस 55 सीटों के आसपास है। कांग्रेस मुख्यालय में सन्नाटा पसर गया है। रुझानों में पार्टी के पिछड़ने के साथ ही उनका उत्साह कम होता गया। वैसे, एग्जिट पोल में ही एनडीए की बड़ी जीत की संभावना जताने के बाद से कांग्रेस खेमे में उत्साह की कमी नजर आ रही थी। दिल्ली के 24 अकबर रोड स्थित कांग्रेस मुख्यालय में बृहस्पतिवार सुबह ही बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता जमा हो गए थे।

अंतिम परिणामों में परिवर्तित हुए तो भाजपा 2014 के अपने प्रदर्शन में सुधार कर ज्यादा सीटें जीतती दिख रही है। 2014 में भाजपा ने लोकसभा की 543 सीटों में से 282 सीटें जीती थीं। भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) 2014 की 336 सीटों के मुकाबले 339 सीटों पर काबिज होता दिख रहा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.