Take a fresh look at your lifestyle.

आंशिक तौर पर प्रतिबंध हटे, जम्मू-कश्मीर में हालात सामान्य

जम्‍मू-कश्‍मीर में कल पांचवे दिन स्थिति शांतिपूर्ण

सत्य संग्राम। राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और सी.आर.पी.एफ. के महानिदेशक राजीव भटनागर ने कल घाटी का दौरा किया, जहां पर कल लोगों ने स्‍थानीय मस्जिदों में जुमे की नमाज अदा की।

इस बीच, राज्‍यपाल सत्‍यपाल मलिक ने कहा कि घाटी में आवश्‍यक सुविधाओं जैसे – बिजली, पानी, साफ-सफाई और दवाइयों की उपलब्‍धता को सुनिश्चित बनाने के लिए सोलह सौ कर्मचारियों को काम पर लगाया गया है। कश्‍मीर घाटी में अलग-अलग क्षेत्रों में उन्‍होंने मौके पर जाकर ताज़ा स्थिति की जानकारी हासिल की।

जम्‍मू-कश्‍मीर में कल पांचवे दिन स्थिति शांतिपूर्ण बनी रही, हालांकि कश्‍मीर घाटी में कल शुक्रवार को कुछ प्रतिबंध के बीच जुम्‍मे की नमाज अता की गई। इस बीच करगिल ज्‍वाइंट एक्‍शन कमेटी ने कल ईद के त्‍योहार तक हड़ताल स्‍थगित की।

जम्‍मू डिवीजन में जम्‍मू समेत जम्‍मू क्षेत्र के सभी पांच जिलों में धीरे-धीरे स्थिति सामान्‍य हो रही है। यहां लागू धारा 144 कल हटा ली गई। सभी शिक्षण संस्‍थाएं आज से खुल जाएंगी।

हालांकि प्रतिबंधों में छूट दी गई है लेकिन डोडा, किश्‍तवाड़, रामबन, राजौरी और पुंछ समेत अन्‍य जिलों में प्रतिबंध अभी लागू हैं।

आपको बता दें कि कश्मीर भारत का महत्वपूर्ण ‘केन्द्र-शासित प्रदेश’। 5 अगस्त 2019 जम्मू कश्मीर को विधानसभा सहित केंद्रशासित प्रदेश का दर्जा मिल गया है। लद्दाख को भी जम्मू कश्मीर से अलग करके अलग केंद्र शासित प्रदेश का दर्जा दिया गया है।

बता दें कि प्राचीनकाल में कश्मीर (महर्षि कश्यप के नाम पर) हिन्दू और बौद्ध संस्कृतियों का पालना रहा है। मध्ययुग में मुस्लिम आक्रान्ता कश्मीर पर क़ाबिज़ हो गये।

Leave A Reply

Your email address will not be published.