Take a fresh look at your lifestyle.

अवैध गतिविधियां रोकथाम संशोधन विधेयक-2019 पारित – लोकसभा

इस विधेयक में कड़े आतंकरोधी कानूनों का प्रावधान किया गया है।

सत्य संग्राम। लोकसभा में अवैध गतिविधियां रोकथाम संशोधन विधेयक-2019 पारित कर दिया। विधेयक में ऐसे व्यक्तियों को आतंकवादी घोषित करने का अधिकार दिया गया है, जो आतंकवाद से जुड़े किसी भी गतिविधि में भाग लेता है।

विधेयक में अवैध गतिविधि रोकथाम कानून 1967 में संशोधन किया गया है। विधेयक में राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण-एनआईए के महानिदेशक को जांच के दौरान सम्पत्ति की जब्ती का अधिकार भी दिया गया है।

आपको बता दें कि सरकार ने सीमा पार से घुसपैठ रोकने के लिए कई तरह के उपाय किए हैं। केन्‍द्रीय गृह राज्‍यमंत्री नित्‍यानंद राय ने राज्‍यसभा में यह जानकारी दी।

उन्‍होंने बताया कि अंतर्राष्‍ट्रीय सीमा पर निगरानी के लिए केन्‍द्रीय बलों की तैनाती तथा बाड़ और फ्लडलाईट लगाने जैसे उपाय इनमें शामिल हैं। रक्षामंत्री  राजनाथ सिंह ने कहा कि कश्‍मीर मुद्दे पर किसी तीसरे पक्ष की मध्‍यस्‍थता देश की नीति के विरूद्ध है।

यूएपीए ने व्‍यक्ति विशेष को कब आतंकवादी घोषित किया जायेगा, इसका प्रावधान है, आतंकवादी कार्यकर्ता है या उसमें भाग लेता है, आतंकवादी को अभिवृद्धि देने के लिए धन मुहैया कराता है तो मैं मानता हूं उसको भी आतंकवादी घोषित करना चाहिए। आतंकवाद को फैलाने के लिए जो अप-प्रचार होता है वो आतंकवाद का मूल है।

गृहमंत्री अमित शाहा ने सदन को आश्वासन दिया कि इसका दुरुपयोग नहीं हो सकेगा। इसमें पर्याप्त सुरक्षा उपाय किए गए हैं। अमित शाह ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई दलगत राजनीति से ऊपर होनी चाहिए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.