Take a fresh look at your lifestyle.

अम्बेडकर सर्किल: बहुजन समाज में आक्रोश तेज, आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने की मांग

धार्मिक उन्माद फैलाने की मंशा से शनिवार रात असामाजिक तत्वों ने (राजस्थान) बीकानेर अम्बेडकर सर्किल पर तोड़फोड़ की।

सत्य संग्राम। डॉ. बी. आर. अंबेडकर सर्किल बीकानेर पर शनिवार रात 6 जुलाई को असामाजिक तत्वों ने बहुजन समाज को ठेस पहुंचाने की मंशा से बाबा साहब की प्रतिमा के पास रखे गमले तोड़कर गंदगी फैलाकर परिसर को खराब करने की कोशिश की गई है। धार्मिक उन्माद फैलाने की मंशा से बाबा साहब की प्रतिमा के नीचे भगवान की तस्वीर रख दी गई।

सुत्रों से मिली जानकारी के अनुसार- पुलिस वृत्ताधिकारी शहर भोजराज सिंह ने मौके पर पहुंच आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए सीसीटीवी कैमरों की जांच करने तथा इसके लिए एक स्पेशल टीम गठित करने के निर्देश दिए। देर रात तक मौके पर पुलिस जाब्ता तैनात रहा। पुलिस भी आरोपियों की धरपकड में जुटी रही।

आपको बता दें कि अज्ञात लोगों ने बाबा साहब के सर्किल पर रखे गमलों को तोडने के साथ ही धार्मिक आस्था के कुछ चित्र भी रख दिए। इसके पीछे मंशा लोगों की भावना भड़काकर तनाव पैदा करने की थी। इस सम्बध में सदर पुलिस थाना में एफआईआर दर्ज हो चुकी है। पुलिस प्रशासन द्वारा कारवाई का आश्वासन दिया गया।

सामाजिक कार्यकर्ता वीरबहादुर लेखाला ने समाज के लोगों को साथ लेकर पुलिस प्रसासन से बात कर आरोपियो को जल्द गिरफ्तार करने की मांग की। उन्होंने कहा कि भारतीय संविधान निर्माता व महापुरूष डॉ अम्बेडकर की प्रतिमा परिसर में अवैध रूप से प्रवेश करके सौन्दर्य करण हेतु रखे गममों को तोड़कर नुकसान पहुंचाया गया। समस्त बहुजन समाज ने आरोपियो के खिलाफ जल्द कार्रवाई की मांग की है।

बसपा शहर उपाधयक्ष मनोज श्री देव ने कहा कि कुछ असामाजिक तत्व के लोग बाबा साहब को अपमान कर समाज में हिंसा फैलाने का काम कर रहे है। पुलिस प्रशासन को जल्द से आरोपियों को गिरफ्तार करना चाहिए। इस घटना से समाज में रोष है।

डॉ. अंबेडकर सर्किल बीकानेर पर रास्ता जाम किया गया और प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की गई। आरोपियों पर जल्द कार्रवाई करने के लिए पुलिस प्रशासन को ज्ञापन सौंपा गया है जिसमें बड़ी संख्या में बहुजन समाज के लोग मौजूद रहें – राहुल सिद्धार्थ, मनोज श्री देव, भंवर हटीला, पवन हटीला, सुरेंद्र मेघवाल, अनिल बारूपाल, मैक्स नाइक, राजेश शियोता, हीरालाल कोलासर, मगनाराम केडली, प्रफुल्ल,अनिल लीलड़, सहित सैकडो की तादात में युवा मोजूद थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.