Take a fresh look at your lifestyle.

अनुच्‍छेद 370 हटने से जम्‍मू-कश्‍मीर और लद्दाख में विकास के नये युग की शुरूआत – प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री का राष्‍ट्र के नाम संबोधन - जम्‍मू-कश्‍मीर क्षेत्र आतंकवाद और अलगाववाद से मुक्‍त होगा।

सत्य संग्राम। राष्‍ट्र को संबोधित करते हुए  प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने  कहा कि सामाजिक जीवन में कुछ बातें समयके साथ इतनी घुलमिल जाती है कि उन चीजों का मन में एक प्रकार से स्‍थायी भाव बन जाता है कि कुछ बदलेगा ही नहीं। अनुच्‍छेद 370 के साथ भी ऐसा ही था। इससे बहुत हानि हो रही थी, लेकिन चर्चा नहीं हो रही थी। अब नई व्‍यवस्‍था से जम्‍मू कश्‍मीर का भविष्‍य भी सुधरेगा।

नरेन्द्र मोदी ने कहा कि जम्‍मू कश्‍मीर और लद्दाख में रिक्‍त पदों को भरने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। सेना और अर्द्धसैनिकबलों द्वारा स्‍थानीय युवाओं के लिए भर्ती का आयोजन किया जाएगा।

उन्होनें ने कहा है कि राष्‍ट्र के तौर पर हमने एक ऐतिहासिक फैसला लिया। एक नये युग की शुरूआत हुई।  पूरी बहस के बाद जो कानून बनताहै उससे पूरे देश का भला होता है। लेकिन पहले कुछ कानूनों से जम्‍मू कश्‍मीर के लोगवंचित हो जाते थे।

उन्‍होंने कहा कि अनुच्‍छेद35ए के समाप्‍त होने से नई व्‍यवस्‍था आएगी। वहां के कर्मचारियों और पुलिस अधिकारियोंको भी देश के अन्‍य भागों के कर्मचारियों के समान सुविधाएं मिलेंगी। अब युवा जम्‍मू कश्‍मीर का नेतृत्‍व करेंगे और उसे नई ऊंचाइयों पर ले जाएंगे। उन्‍होंने कहा कि जम्‍मू कश्‍मीर और लद्दाख में पर्यटन का बड़ा केन्‍द्र बनने की क्षमताहै।

प्रधानमंत्री ने कहा कि पारदर्शीचुनाव होगा और लोग अपने प्रतिनिधि चुनेंगे। राज्‍यपाल से आग्रह किया कि ब्‍लॉक विकाससमिति का गठन किया जाए। हाल में हुए पंचायत चुनाव से जम्‍मू कश्‍मीर को काफी लाभ हुआहै और जमीन स्‍तर पर भी काफी लाभ पहुंचा है।

उन्‍होंने कहा कि जम्‍मू कश्‍मीरमें राजस्‍व घाटा भी बहुत ज्‍यादा है। केन्‍द्र सरकार यह भी सुनिश्चित करेगी कि इसकेनकारात्‍मक प्रभावों को कम किया जाएगा। उन्‍होंने कहा कि कुछ काल खंड के लिए जम्‍मूकश्‍मीर को सीधे केन्‍द्र सरकार के शासन में रखने का फैसला बहुत सोच समझकर ‍किया गयाहै।

प्रधानमंत्री ने कहा है कि जम्मूकश्मीर के संदर्भ में दो अनुच्छेदों का देश के खिलाफ कुछ लोगों की भावनाएं भड़कानेके लिये, पाकिस्तान द्वारा एक शस्त्र की तरह इस्तेमाल किया जाता था।

उन्‍होंने कहा कि आर्टिकल 370 और 35 ए ने जम्‍मू-कश्‍मीर को अलगाववाद, आतंकवाद, परिवारवाद और व्‍यवस्‍थाओं मेंबड़े पैमाने पर फैले भ्रष्‍टाचार के अलावा कुछ नहीं दिया। इन दोनों अनुच्‍छेद का देशके खिलाफ कुछ लोगों की भावनाएं भड़काने के लिए पाकिस्‍तान द्वारा एक शस्‍त्र के तौरपर इस्‍तेमाल किया जा रहा था।

प्रधानमंत्री ने कहा कि नई व्यवस्थामें केंद्र सरकार की ये प्राथमिकता रहेगी कि राज्य के कर्मचारियों को, जम्मू-कश्मीरपुलिस को, दूसरे केंद्र शासित प्रदेश के कर्मचारियों और वहां की पुलिस के बराबर सुविधाएंमिलें।

एक राष्‍ट्रके तौर पर, एक परिवार के तौर पर, आपने, हमने, पूरे देश ने एक ऐतिहासिक फैसला लिया है।एक ऐसी व्‍यवस्‍था जिसकी वजह से जम्‍मू-कश्‍मीर और लद्दाख के हमारे भाई-बहन अनेक अधिकारोंसे वंचित थे जो उनके विकास में बड़ी बाधा थी। वो हम सब के प्रयासों से अब दूर हो गईहै।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जो सपना सरदार वल्‍लभ भाई पटेल का था, बाबा साहेब अंबेडकर का था, डॉ श्‍यामा प्रसादमुखर्जी का था, अटल जी और करोड़ो देश भक्‍तों का था वो सपना अब पूरा हुआ है। जम्‍मू-कश्‍मीरऔर लद्दाख में एक नए युग की शुरूआत हुई है। अब देश के सभी नागरिकों के हक भी समान हैऔर दायित्‍व भी समान है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि नई व्‍यवस्‍थामें केंद्र सरकार की यह प्राथमिकता रहेगी कि राज्‍य के कर्मचारियों को जिसमें जम्‍मू-कश्‍मीरकी पुलिस भी शामिल है दूसरे केन्‍द्र शासित प्रदेश के बराबर की सुविधाएं मिलें जैसेएलटीसी, हाउस रेंट अलाउंस, बच्‍चों की शिक्षा के लिए एजुकेशन अलाउंस, हेल्‍थ स्‍कीमऐसी सुविधाओं का तत्‍काल रिव्‍यु कराकर मुहैया कराई जाएगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि बहुत जल्‍द ही जम्‍मू कश्‍मीरऔर लद्दाख में सभी केन्‍द्रीय और राज्‍य के रिक्‍त पदों को भरने की प्रक्रिया शुरूकी जाएगी। इससे स्‍थानीय नौजवानों को रोजगार के पर्याप्‍त अवसर को उपलब्‍ध होंगे और साथ ही केन्‍द्र सरकार की पब्लिक सेक्‍टर युनिट्स और प्राइवेट सेक्‍टर की बड़ी कंपनियोंको भी रोजगार के नए अवसर को उपलब्‍ध कराने के लिए प्रोत्‍साहित किया जाएगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि अनुच्छेद370 और 35ए ने जम्मू कश्मीर को अलगाववाद, आतंकवाद, परिवारवाद और व्यवस्था में बड़ेपैमाने पर फैले भ्रष्टाचार के अलावा कुछ नहीं दिया। इसके कारण तीन दशक में राज्य में42 हजार निर्दोष लोग मारे गए ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.