Take a fresh look at your lifestyle.

अनुच्‍छेद 370 को हटाने संबंधी राष्‍ट्रपति के आदेश को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई से इंकार – सुप्रीम कोर्ट

कांग्रेस के एक कार्यकर्ता की ओर से दायर याचिका पर भी तुरन्‍त सुनवाई से इंकार कर दिया।

सत्य संग्राम। उच्‍चतम न्‍यायालय ने अनुच्‍छेद-370 के प्रावधान हटाये जाने के बाद जम्‍मू कश्‍मीर में प्रतिबंध लगाने के सरकार के फैसले को चुनौती देने के लिए कांग्रेस के एक कार्यकर्ता की ओर से दायर याचिका पर भी तुरन्‍त सुनवाई से इंकार कर दिया।

आपको बता दें कि उच्‍चतम न्‍यायायलय ने जम्‍मू कश्‍मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्‍छेद 370 को हटाने संबंधी राष्‍ट्रपति आदेश को चुनौती देने वाली याचिका पर तुरन्‍त सुनवाई करने से इंकार कर दिया है।

आपको बता दे कि यह मुद्दा न्‍यायमूर्ति एन वी रमना की अध्‍यक्षता वाली पीठ के समक्ष तुरन्‍त सुनवाई के लिए सूचीबद्ध करने के लिए रखा गया था। लेकिन न्‍यायालय ने कहा कि इन याचिकाओं पर सुनवाई उपयुक्‍त समय पर होगी।

उच्‍चतम न्‍यायालय ने अनुच्‍छेद-370 के प्रावधान हटाये जाने के बाद जम्‍मू कश्‍मीर में प्रतिबंध लगाने के सरकार के फैसले को चुनौती देने के लिए कांग्रेस के एक कार्यकर्ता की ओर से दायर याचिका पर भी तुरन्‍त सुनवाई से इंकार कर दिया।

वहीं जम्‍मू डिवीजन के राजौरी, डोडा और पुंछ जिलों में प्रतिबंध जारी है। श्रीनगर में कुछ दुकानें खुली और कल प्रतिबंध के बावजूद लोग घरों से बाहर निकले लेकिन घाटी में धारा-144 सख्‍ती से लागू रहने के कारण अधिकांश लोग घरों में ही रहे। जम्‍मू जिले में प्रशासन ने सवेरे 11 बजे से शाम चार बजे तक प्रतिबंध में ढील दी है। पड़ोस के कठुआ जिले में प्रतिबंध पूरी तरह उठा लिया गया है।

बता दें कि रिहायशी जिलों में सरकारी दफ्तर और बैंक सामान्‍य तौर पर से काम कर रहे हैं। हालांकि कठुआ जिले को छोड़कर जम्‍मू संभाग में स्‍कूल और कॉलेज अगले आदेश तक बंद रहेंगे। जिला मजिस्‍ट्रेट कुछ राजनीतिक दलों द्वारा बुलाए गए बंद को देखते हुए ए‍हतियात के तौर पर धारा 144 लागू कर दी है।

बता दें कि जम्‍मू और कठुआ जिलों में दुकानें और कारोबारी प्रतिष्‍ठान आज खुल गए है और निजी वाहन भी चल रहे है। कठुआ में जिले में सरकारी कार्यालय, बैंक और सार्वजनिक क्षेत्र के अधिकारी काम कर रहे है। जिले में शिक्षा संस्‍थान और कॉलेज भी आज दोबारा खुल गए है। रामबन जिले में छोड़कर सभी स्‍थानों पर जारी प्रतिबंधों में लोगों और वाहनों पर सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक ढील दी गई है।

राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने श्रीनगर में लोगों को आश्वासन दिया है कि उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी सरकार की है। वे कश्मीर घाटी के स्थानीय निवासियों के बीच विश्‍वास बहाली के लिए मंगलवार को कश्‍मीर पहुंचे थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.